सरकारी वकील कैसे बनें | How to Become A Government Public Prosecutor Hindi

दोस्तों क्या आप भी 12th करने के बाद सरकारी वकील बनना चाहते हैं, और प्रति महा अच्छा खासा आवेदन कमाना चाहते हैं, तो Post में बनी रहिएगा क्यों कि आज हम सरकारी वकील बननेके बारे में आपको कंप्लीट जानकारी देंगे।

साथ ही बताएंगे कि सरकारी वकील का क्या काम होता है, इन्हें वेतन कितना मिलता है, जिसके लिए कितनी पढ़ाई करनी होती है।

आयु सीमा कितनी होनी चाहिए, इसके लिए भर्ती प्रक्रिया क्या होती है, उसका एग्जाम कैसे होगा, सिलेबस क्या होगा? आदित्य भी टॉपिक पर हम विस्तार से बात करेंगे।

सरकारी वकील कैसे बनें | How to Become A Government Public Prosecutor Hindi

सरकारी वकील कैसे बनें | How to Become A Government Public Prosecutor Hindi
सरकारी वकील कैसे बनें | How to Become A Government Public Prosecutor Hindi

सरकारी वकील क्या होता हे और क्या काम  है 

दोस्तों सरकारी वकील जितने इंग्लिश में हम गवर्नमेंट एडवोकेट और पब्लिक प्रॉसिक्यूटर बोलते हैं, सरकारी वकील के कार्यों में जितने मुकदमे में पुलिस द्वारा जारी की गई चार्जशीट का विश्लेषण करना और फिर कोर्टमें सभी गवाहों और सबूतों को न्यायधीश के सामने पेश करना, कोर्ट में स्टेट गवर्नमेंट का बचाव करना, इसके साथ ही गवर्नमेंट में बर्स को टैक्स, इन्वायरमेंट जस्टिस आदि मैं एक कानूनी सलाह देना उनकी मदद करना।

कानूनी दस्ता वेज लिखना सरकार को नेशनलऔर इंटरनेशनल मीटिंग में भी प्रजेंट करना आदि तरह की कार्य सरकारी वकील क होते हैं। 

सरकारी वकील की क्या सेलेरी होती है 

अब बात करे की वेतन उनको कितना मिलता है, तो उन्हें प्रतिमाह 45000 से ₹55000 के लगभग वेतन मिलता है, और यह अलग-अलग राज्यों में कम या ज्यादा भी हो सकता है, और इसके लिए कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयसे एलएलबी किया होना जरूरी होता है। 

सरकारी वकील बनेमे कितना टाइम लगता है 

तो एलएलबी का कोर्स 5 और 3 साल का होता है, यानी अगर 12th केबाद आप ba.llb करते हो तो यह 5 साल का होगाऔर अगर ग्रेजुएशन करने के बाद यह कोर्स करते हो तोयह 3 साल का होगा। 

सरकारी वकील बनेमे के लिए क्या करना पड़ता है 

 तो दोस्तों कोई भी कैंडिडेट सरकारी वकील 2 तरीके से  बन सकता है। एक तो एडीजीसी प्रोसेस केद्वारा और दूसरा एपीओ एक्जाम के द्वारा। 

तो दोस्तों सबसे पहली बात करते हैं, एपीओ एग्जाम के बारे में तो अगर आप नहीं अपनी वैद्य क्लास बात करनी है, तो अब आपको इसकेलिए बीए एलएलबी का कोर्स करना होगा क्योंकि 5 साल का कोर्स होता है, जिसके लिए आपको ग्लाइडर एंट्रेंस एग्जाम देना होगा और कुछ यूनिवर्सिटी अपना अलग से भी एंट्रेंस एग्जाम कंडक्ट करवा ती है।

जिसमें अच्छे नंबर लाकर आप एक अच्छे कॉलेज से अपनी ba.llb कंप्लीट कर सकते हैं, और फिर ba.llb कंप्लीट होनेके बाद आपको सरकारी वकील बनने के लिए एपीओ एग्जाम देना होगा, जिसके बारे में आगे हम बात करेंगे।

 दोस्तों बीए एलएलबी कोर्स की फीस अलग-अलग कॉलेजों के हिसाब से अलग-अलग होती है, यह 5 साल की फीस 50000 से ₹80000 के लगभग हो सकती है।

तो एपीओ एक्जाम जिसका पूरा नाम होता है अधिक स्टैंड प्रॉसीक्यूशन ऑफीसर, दोस्तों यह एग्जाम प्रदेश राज्य में अलग-अलग होता है, जिसे राज्य का लोक सेवा आयोग आयोजित करता है।

मध्यप्रदेश में यह एग्जाम एडीपी ओ के नाम से और राजस्थान में एपीबी एग्जाम के नाम से और बाकी ज्यादातर राज्यों में एपीओ के नाम से ही लिया जाता है, और दोस्तों इसी तरह अलग-अलग राज्यों के हिसाब से भर्ती प्रक्रिया में भी थोड़ा बहुत अंतर हो सकता है।

सरकारी वकील बनेमे के लिए क्या योग्यता है 

इसके लिए कैंडिडेट की आयुसीमा 21 से 40 साल के बीच में होनी चाहिए, इस में एससी एसटी और ओबीसी वालों को 5 साल की छूट भी मिलती है, जिसके अनुसार sc.st.obc वाली कैंडिडेट की आयु सीमा 21से 45 साल के बीच में होनी चाहिए।

 इसकी भर्ती प्रक्रिया में सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा होती है, फिर मुख्य परीक्षा और फिर इंटरव्यू लिया जाता है, प्रारंभिक परीक्षा में एक पेपर होता है, यह डेढ़ सौ नंबर का होता है जिसे 2 पार्टमें डिवाइड किया होता है।

सरकारी वकील बनेमे के लिए क्या परीक्षा है 

 पार्ट वन में जनरल नॉलेज के 50 नंबर के 50 प्रश्न पूछे जाएंगे और दूसरे पार्ट में एक्टर एंड लोकेश सो नंबर के 100 प्रश्न पूछे जाते हैं।

इसमें वन बाय थ्री नेगेटिव मार्किंग होती है और सभी बहु विकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसके बाद के परीक्षा में 42 नंबर के चार पेपर होंगे जिसमें प्रत्येक बेबस और 100 नंबर का होगा, और इसमें तीन 3 घंटे का समय दिया जाएगा यह लिखित पेपर होते हैं जिसमें जनरल नॉलेज जनरल हिंदी क्रिमिनललॉ एंड प्रोसीजर एविडेंस लॉ विच यू से प्रश्न पूछे जाएंगे।

तो जनरल नॉलेज के सिलेबस में इंडियन कल्चर, इन्वायरमेंट, बोर्ड नेइंडियन इकोनामी, जूलॉजी, बेसिक, जीके, इंडियन पॉलिटिक्स, बेसिक कंप्यूटर, फेमस डेएंड ,डेट केमिस्ट्री ,इंडियन हिस्ट्री ,जियोग्राफी, फिजिक्स ,इंवेंशन इन द वर्ल्ड,फेमस बुक्स एंड ऑथर्स, स्पोर्ट्स, इंडियन पार्लिमेंट आदि से प्रश्न पूछेजाएंगे। 

एक्ट एंड लोकेश ले बस में इंडियन पीनल कोड, इंडियन,एविडेंस एक्ट, क्रिमिनल प्रोसीजर कोड, पुलिस एक्ट एंड रेगुलेशन, अंडर, थिसएक्ट आदि विषयों से प्रश्न पूछे जाएंगे और जनरल हिंदी केसिलेबस में वाक्य सुधार संध्या कारक ,विलोम रस अलंकार, वाक्यांशों केलिए एक शब्द निर्माण वर्तनी, वजन पर्यायवाची, तत्सम एवं तद्भव वाक्यसंशोधन, लोकोक्ति और मुहावरे त्रुटि से संबंधित अनेकार्थी शब्द आदि सेसंबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे।

जिसके बाद क्रिमिनल लॉ एंड प्रोसीजर के सिलेबस में जनरल एक्सेप्शन ज्वाइंट एंड कंस्ट्रक्टिव, लायबिलिटी, क्रिमिनल कौन सीपेशी ऑफेंस अगेंस्ट पब्लिक ट्रेन क्वालिटी ऑफेंस अगेंस्ट हुमन बॉडी ऑफेंस अगेंस्ट वूमेन, ओपन सगेट प्रॉपर्टी कॉन्स्टिट्यूशन मेंटेनेंस ऑफ पब्लिक ऑर्डर एंडपब्लिक ट्रेन क्वालिटी एलोकेशंस बेलबोनी, विजन एंड अपील पावर, फंक्शन एंडड्यूटीज ऑफ वेरियस पुलिस, ऑफिसर अंडर द पुलिस एक्ट आदि सेसंबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे।

और एविडेंस लॉ के सिलेबस में 11सीट एडमिशन एंड। कन्वेंशन डाईंग डिक्लेरेशन, ओरल एंड डॉक्युमेंट्री, एविडेंस एक्सक्लूजनऑफ ओरल बाय, डॉक्युमेंट्री, एविडेंस बर्डन, आफ प्रूफ, विटनेस, इंक्लूडिंग, बिहार,एग्जामिनेशन आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे।

READ: सरकारी शिक्षक कैसे बनें 

फिर एग्जाम क्लियर करनेके बाद कैंडिडेट को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, इसेक्लियर करने के बाद सरकारी वकील बन जाते हैं।

जिस के बाद उन्हें कुछ दिनों के लिए ट्रेनिंग पर भेजा जाता है, तो दोस्तों यह होता है एपीओ एक्जाम के द्वारा सरकारी वकील बननेका प्रोसेस और आप जानते हैं कि आप एग्जाम के लिए एप्लीकेशन फॉर्म के बारे में कैसे पता करेंगे।

तो माना आप उत्तर प्रदेश से हैं तो आपको उत्तर प्रदेश की पब्लिक सर्विस कमीशन की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा, इसके लिए आपको गूगल पर uppsc.up.nic.in सर्च करना होगा, इसके बाद वेबसाइट ओपन हो जाएगी यहीं पर आपको ड्यू डेट बोर्ड का बॉक्स दिखाई देगा जहां पर अभी चल रही सभी एग्जाम के बारे में जानकारी दी गई होगी और यहीं पर जब भी एपीओ एक्जाम के लिए भर्ती आएगी तो आपको जानकारी मिल जाएगी।

फिर आप उस पर क्लिक करके उसके लिएआसा नी से अप्लाई करवा एंगे, और दोस्तों अपनी राज्य की वेबसाइट याएपीओ एग्जाम के बारे में जानने के लिए हमें अपने राज्यका नाम नीचे कमेंट करना मत भूलिये गा।

सरकारी वकील बनेमे के लिए और एक तरीका 

 तो अब जानते हैं दूसरे तरीके यानी एडीजीपी प्रोसेस के बारे में, एडीजी सी का फुल फॉर्म अपॉइंटमेंट ऑफ डिस्ट्रिक्ट गवर्नमेंट काउंसिल होता है।

 दरअसल इस में कैंडिडेट का किसी भी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में वकील के रूप में कार्य करते हुए कम से कम 10 साल का एक्सपीरियंस होना चाहिए, उसके बाद जिला स्तर पर सीनियर जजों का एक पैनलउन वकीलों की एक एक्सपीरियंस और योग्यता के आधार पर एकलिस्ट बनाता है, जो कि सभी जिलों में अलग-अलग बनाई जाती है और फिर जीते स्टेट गवर्नमेंट को भेजा जा और फिर स्टेट गवर्नमेंट के द्वारा जितने भी वकीलों की जरूरत हो ती है,उतने वकीलों को सरकारी कर दिया जाता है।

इस तरहसे बने सरकारी वकीलों का कार्यकाल सिर्फ 5 साल का होता है, और यह स्थाई नहीं हो ते, सरकार चाहे तो इन्हीं 5साल से पहले ही हटा सकती है।

मेरी अंतिम राय इस Post पे

दोस्तों यह दो प्रोसेस जिनके द्वारा कोई भी कैंडिडेट सरकारी वकील बन सकता है और इससे संबंधित अगर आपका कोई भी प्रश्न है तो अपना प्रश्न और राज्य का नाम लिखकर हमें नीचे कमेंट कीजिए, जिससे कि हम आपके लिए उस टॉपिक पर Post बना सके

तो दोस्तों अगर हमारे साथ आप इसी तरह से एजुकेशनल या फिर जॉब से रिलेटेड इंफॉर्मेशन को लेना चाहते हैं तो इस के लिए जरूरी है कि आप हमारे इस Naukrikhabri.com की वेबसाइट से जुड़े रहैं। अगर Post अच्छा लगे तो अपने दोस्तों को भी शेयर करें तो दोस्तों इस Post में बस इत ना ही और मिलते हैं अगले Post में जय हिंद वंदे मातरम।

Share on:

Hi, I am Royaldo Sanju a part-time Blogger, Developer, Affiliate Marketer and founder of Naukrikhabri.com. Here, I post about Jobs to help people make money online.

1 thought on “सरकारी वकील कैसे बनें | How to Become A Government Public Prosecutor Hindi”

Leave a Comment