डीजीपी कैसे बनें | How to Become A DGP Officer Hindi

डीजीपी कैसे बनें | How to Become A DGP Officer Hindi: जब भी किसी पुलिस की जॉब की बात अतिहै तो हम DGP की पोस्ट के बारे में जरूर सोच ते है और डीजीपी बनेका सपना भी सोच है, तो क्या आप भी एक डीजीपी बनेके बारेमे सोच रहे हो तो दोस्तों आज की इस Post में हम DGP के बारे में बात करेंगे।

डीजीपी कैसे बनते हैं, कौन-कौन से कार्य करने होते हैं, वेतन कितना मिलता है भर्ती प्रक्रिया क्या होती है आदि सभी कुछ हम इस Article में कवर करेंगे।

डीजीपी कैसे बनें | How to Become A DGP Officer Hindi

डीजीपी कैसे बनें | How to Become A DGP Officer Hindi
डीजीपी कैसे बनें | How to Become A DGP Officer Hindi

डीजीपी का फुल फॉर्म क्या है 

तो दोस्तो DGP पी का पूरा नाम होता है डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस हिंदी में पुलिस महानिदेशक कहते हैं। 

डीजीपी क्या होता है 

यह एक राज्य में पुलिस विभाग का सबसे बड़ा अधिकारी होता है क्योंकि आईपीएस रैंक का अधिकारी होता है,पूरे राज्य का पुलिस प्रशासन इन्ही के अंडर में कार्य करता है। 

डीजीपी का क्या काम होता है 

तो राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखना उसके लिए जरूरी कदम उठाना अपने नीचे कार्य करने वाले पुलिस ऑफिसर के कार्यों की जानकारी लेना, उन्हें निर्देश देना आदिइस तरह के सभी कार्य बीजेपी के अंतर्गत आते हैं। 

पहचानकी तौर पर इन के कंधे पर एक अशोक स्तंभ जिसकेनीचे तलवार कृपाण से क्रॉस बना होता है और नीचे आईपीएसलिखा होता है। 

डीजीपी की सेलेरी कितनी है 

बात करें वेतन की दो प्रति माह 90000 से ₹150000 के लगभग वेतन मिलता है, इसके साथ ही रहने के लिए घर गाड़ी, नौकर आदि बहुत ही सुख सुविधाएं डीजीपी को दी जाती है। 

डीजीपी कैसे बने

अब बात के लिए डीजीपी बनते कैसे है तो हम आपको बता दें कि डीजीपी एक प्रमोशन पद होता है जिस पर डायरेक्ट भर्ती नहीं होती बल्कि प्रमोशन केद्वारा डीजीपी बनते हैं।

डीजीपी की एग्जाम क्या होती है 

इसके लिए सबसे पहले UPSC का एग्जाम देना होता है जिसे क्लियर करने के बाद कैंडिडेट का सिलेक्शन डीएसपी के पद पर होता है जिसके कुछ सालों के बाद इनका प्रमोशन बीएसपी से एएसआई के पद पर होता है। 

फिर एसपी एसएसपी डीआईजी आई जी ए डीजीपी और ब्राजील में प्रमोशन होने पर डीजीपी बनते हैं तो दोस्तों इतनी लंबी प्रोसेस के बाद कोई कैंडिडेट डीएसपी के पद से डीजीपी बनता है। 

डीजीपी की आयु सीमा क्या है 

तो अब बात आती है कि यूपीएससी का एग्जाम कैसे होता है इसकी भर्ती प्रक्रिया क्या होती है? बीएससी एग्जाम के लिए जनरल कैटेगरी के कैंडिडेट की आयु सीमा 21 से 32 साल के बीच में होनी चाहिए, जिसमें ओबीसी वालों को 3 साल की छूट दी जाती है, जिसके अनुसार ओबीसी वालों की आयु सीमा 21 से 35 साल के बीच में होनी चाहिए। 

ऐसी एसटी वालों को 5 साल की छूट दी जाती है, जिसके अनुसार एससी एसटी वालों की आयु सीमा 21 से 37 साल केबीच में होनी चाहिए और इसी के साथ ही कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन पास होना जरूरी होता है।

 फिर चाहे उसने बी ए बी एस ई बीटेक बीकॉम, बीबीए आदि में से कोई भी कोर्स किया है और किसी भी विषय में किया है, बस जनरल केटेगरी वाले कैंडिडेट इस एग्जाम को अपनी आयु सीमा यानी कि से 32 साल तक सिर्फ 6 बार दे सकते हैं। 

ओबीसी वाले 21 से 35 साल तक केवल 9 बार दे सकते हैं, जबकि एससी एसटी वालों के लिएकोई लिमिट नहीं होती, वह किस देश से 30 साल के बीच में जितनी बार चाहे यह एग्जाम दे सकते हैं।

डीजीपी की भर्ती प्रक्रिया क्या होती है

अब जान लेते हैं किस की भर्ती प्रक्रिया क्या होती है, इसमें सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा होती है, फिर मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू लिया जाता है। 

प्रारंभिक परीक्षा में 2 पेपर होते हैं, पहला पेपर जनरल स्टडीज का जिस में 200 नंबर के 100 प्रश्न पूछे जाते हैं, सभी बहु विकल्पीय प्रश्न होते हैं और यह 2 घंटे का पेपर होता है।

दूसरा होता है सिविल सर्विस एप्टिट्यूड टेस्ट का जोगी क्वालीफाइंग पेपर होता है जिसके नंबर मेरिट लिस्ट में नहीं जुड़ जाते में 200 नंबर के आखिरी प्रश्न पूछे जाते हैं, इसमें भी सभी बहुविकल्पीय प्रश्न होते हैं और यह 2 घंटे का पेपर होता है।

डीजीपी एग्जाम पेपर कोनसे होता है 

तो जनरल स्टडीज में विज्ञान पर्यावरण और पारिस्थिति की समय की अर्थशास्त्र सरकारी नीतियां और बहनों संस्थान अंतरराष्ट्रीय संबंध, राजनीति भूगोल, आधुनिक इतिहास, मध्यकालीन इतिहास, कला और संस्कृति आजादी के बाद का हित आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

 सिविल सर्विस एप्टिट्यूड टेस्ट में गणित जिस में अंकगणित बीज गणित रेखा, गणित और सांख्यिकी अंग्रेजी, हिंदी, सामान्य बौद्धिक योग्यता,लॉजिकल एंड अनलाइक एबिलिटी, डिसीजन, मेकिंग एंड प्रोबलम, सॉल्विंग, कंप्लेंट यूआदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

 जिसके बाद मुख्य परीक्षा होती है जिसमें 2 पेपर होते हैं और प्रत्येक केवल 3 घंटे का होता है, इसमें लैंग्वेज के दो पेपर होते हैं ऐसे जनरल स्टडीज, वन, जनरल, स्टडीज, टू, जनरल स्टडीज, 3, जनर लस्टडीज फॉर, उर्दू, ऑप्शनल पेपर पेपर बन और पेपर टू होते हैं।

 तू लैंग्वेज के दो पेपर में अंग्रेजी का पेपर कंपलसरीहोता है और दूसरा कोई भी लैंग्वेज यूज कर सकते हैं।

दोनों 300 300 नंबर के पेपर होते हैं और इनकी समयअवधि भी तीन-तीन घंटे होती है, इसके बाद ऐसे राइटिंग का 32 नंबर का पेपर होता है जिसमें 3 घंटे का समय दिया जाता है इस में साहित और संस्कृति सामाजिक क्षेत्र, राजनीतिक क्षेत्रविज्ञान पर्यावरण और प्रौद्योगिकी आर्थिक क्षेत्र कृषि उद्योग एवं व्यापार राष्ट्रीयऔर अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रम प्राकृतिक आपदाएं, राष्ट्रीय विकास योजनाएं और योजनाएं आदिसे संबंधित किसी भी टॉपिक पर एस्से लिखना होता है। 

READ: आईएएस ऑफिसर कैसे बनें | How to Become A IAS Officer Hindi

इसके बाद जनरल स्टडीज बंद जनरल स्टडीज टू जनरल स्टडीज 3 के एग्जाम होते हैं जो कि 250 250 नंबर की होते हैं,और इसमें भी 3 घंटे का समय दिया जाता है। इन में भारतीय इतिहास प्राचीन मध्यकालीन और आधुनिक भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन और भारतीय संस्कृति विश्वकोश भारतीय भूगोल और प्राकृतिक संसाधन राष्ट्रीय और अंतर राष्ट्रीय स्तरपर गठित वर्तमान घटनाएं, भारतीय कृषि व्यापार और वाणिज्य भारतीय राजनीति,भारतीय अर्थव्यवस्था, सामान्य विज्ञान, जीवनशैली, सामाजिक, रीति, रिवाज आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। 

जिसके बाद जनरल स्टडीज फॉर पेपर मेंऐड थिक से प्रश्न पूछे जाते हैं और यह भी 250 नंबर का होता है।

 इसके बाद ऑप्शनल के दो पेपर होते हैं, पेपर वन और पेपर दो यह भी 250 250 नंबरकी होते हैं और इसमें भी 3 घंटे का समय दियाजाता है। इसमें टोटल 29 सब्जेक्ट होते हैं, जिस में कैंडिडेट को कोई एक ही सब्जेक्ट यूज करना होता है और उसी मेंसे प्रश्न पूछे जाते हैं और हिंदी सब्जेक्ट की लिस्ट भी आपको नीचे मिल जाएगी। 

डीजीपी भर्ती प्रकिया क्या है 

फिर मुख्य परीक्षा के बाद इंटरव्यू लिया जाता है जो कि 275 नंबर का होता है जिसमें आपके बारे में आपकी पढ़ाई के बारे में आदि किसी भी विषय में प्रश्न पूछा जा सकता है तो अब जान लेते हैं कि आप इसके लिए अप्लाई कैसे करेंगे तो दोस्तों इसके लिए आपको https://www.upsc.gov.in/hi वेबसाइट पर जाना होगा, जहां पर आपको इस तरह का इंटर फेस दिखाई देगा और यहां पर आपको तभी लेटेस्ट, वैकेंसी और रिजल्ट आदि की सभी जानकारी मिल जाएगी, जिन पर क्लिक करके आप उन के बारे में पढ़ सकते हैं और रिप्लाई भी कर सकते हैं। 

मेरी अंतिम राय इस Post पे

तो दोस्तों यह था डीजीपी बनने का कंपलीट प्रोसेस और इससे संबंधित आपका कोई भी प्रश्न है तो आप हमें कमेंट कीजिए जिससे कि हम आपके लिए उस टॉपिक पर भी Article बना सके।  

तो दोस्तों अगर हमारे साथ आप इसी तरह से एजुकेशनल या फिर जॉब से रिलेटेड इंफॉर्मेशन को लेना चाहते हैं तो इस के लिए जरूरी है कि आप हमारे इस Naukrikhabri.com की वेबसाइट से जुड़े रहैं। अगर Post अच्छा लगे तो अपने दोस्तों को भी शेयर करें तो दोस्तों इस Post में बस इत ना ही और मिलते हैं अगले Post में जय हिंद वंदे मातरम।

डीजीपी का फुल फॉर्म क्या है ?

DGP का पूरा नाम होता है डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस हिंदी में पुलिस महानिदेशक कहते हैं।

डीजीपी क्या होता है ?

पुलिस विभाग का सबसे बड़ा अधिकारी होता है क्योंकि आईपीएस रैंक का अधिकारी होता है,पूरे राज्य का पुलिस प्रशासन इन्ही के अंडर में कार्य करता है।

डीजीपी की सेलेरी कितनी है ?

वेतन की दो प्रति माह 90000 से ₹150000 के लगभग वेतन मिलता है।

Share on:

Hi, I am Royaldo Sanju a part-time Blogger, Developer, Affiliate Marketer and founder of Naukrikhabri.com. Here, I post about Jobs to help people make money online.

Leave a Comment